दर्द भरी Love शायरी हिंदी में ! Latest 2020 ( Top Collection )

तुम्हारी जुल्फ के साये में शाम कर लूँगा
सफर इक उम्र का तमाम काम करलूँगा।
नजर मिलाई तो पूछूंगा इश्क़ का अंजाम
नजर झुकाई तो खाली सलाम करलूँगा।

दर्द भरी शायरी

साँस थम जाती है पर जान नहीं जाती,
दर्द होता है पर आवाज़ नहीं आती,
अजीब लोग हैं इस ज़माने में ऐ दोस्त,
कोई भूल नहीं पाता और किसी को याद नहीं आती। ?

फिर से एक उम्मीद पाल बैठी हूँ,
फिर से तेरे पते पर चिट्टी डाल बैठी हूँ। ?

उनकी गली से हम निकले
यूँ निकले की दम निकले !

मेरी उदासी मुझसे रोज़ मिलने आती हैं,
मुस्कुराकर हर बार उसे रूखसत कर देता हूँ। ?

सुकून की तलाश में निकले थे हम,
तो दर्द बोला.. औकात भूल गए क्या। ?

जलते जलते थक चुका हूँ मैं
हवा से कहदो की अब बुझा दे मुझे !

दर्द भरी दो लाइन शायरी ! Painful two line shayari!

रहने दो कि अब तुम भी मुझे पढ़ न सकोगे,
बरसात में काग़ज़ की तरह भीग गयी हूँ।

हर गम निभा रही हूँ खुशी के साथ,
फिर भी आँसू आ ही जाते हैं हँसी के साथ। ?

इश्क की नासमझी में हम सब कुछ गवां बैठे,
जरुरत थी उन्हें खिलौने की हम अपना दिल थमा बैठे।

तन्हाई हो लेती है साथ मेरे,
साये से जुदा होते ही
इसलिए अँधेरे में चलने से बेहद डरने लगी हूँ मैं। ?

मैं न कहूँगा दांस्ता अपनी..
फिर कहोगे सुनी नहीं जाती ।

जो दिखता हो! वही सच हो जरूरी नहीं हैं,
कभी कभी शांत चेहरे के पीछे, दर्द भी छुपा होता हैं। ?

हमने ख़ामोशी के लिफाफे में भेजे थे दिले जजबात,
वे करते रहे किसी और से अपने दिल की बात।

दर्द भरी शायरी, धीरे धीरे सब दूर होते गए

खुशियों से नाराज़ है मेरी ज़िन्दगी,
बस प्यार की मोहताज़ है मेरी ज़िन्दगी,
हँस लेता हूँ लोगों को दिखाने के लिए,
वैसे तो दर्द की किताब है मेरी ज़िन्दगी।

धीरे धीरे सब दूर होते गए
वक़्त के आगें मजबूर होते गए
रिस्तों में हमने ऐसी चोट खाई की
बस हम बेवफा और सब बेकसूर होते गए। ??

अब भी ताज़ा है ज़ख़्म सीने में,
बिन तेरे क्या रखा है जीने में,
हम तो ज़िंदा हैं तेरा साथ पाने को,
वरना देर कितनी लगती है ज़हर पीने में!!

दोस्ती ?के ?बाद ?‍❤️‍?प्यार हो ☝️सकता ?है,
लेकिन ?प्यार ?के ?बाद दोस्ती ?नहीं ?हो ?सकती,
क्योकि ?दवा ⏰जिन्दा ?रहने ?पर ?असर ?करती ?है,
मरने ?के ?बाद ?नही।

मत सताओ हमें हम सताए हुए हैं,
अकेला रहने का गम उठाये हुए हैं,
खिलौना समझ कर न खेलो हम से,
हम भी उसी खुदा के बनाये हुए हैं।?

हो सके ☝ तो सम्भाल ? कर रखना वो लम्हे ?
जो हमने ?साथ बिताए ☝ थे..
क्यूंकि ? हम याद तो आएंगे मगर लौट कर? नही।

गुजारिश हमारी वह मान न सके,
मज़बूरी हमारी वह जान न सके,
कहते हैं मरने ?के बाद भी याद रखेंगे,
जीते जी जो हमें पहचान न सके। ? ?

Sad Shayari ! मेरी फितरत नहीं किसी से नाराज हो जाना।

मेरी फितरत में नहीं है किसी से नाराज होना,
नाराज वो होते है जिसे खुद पर गुरुर होता है।

मशहूर होना लेकिन कभी मगरूर मत होना,
छू लो कदम कामयाबी के लेकिन कभी अपनों से दूर मत होना,
जिंदगी में खूब मिल जायेगी दौलत और शोहरत पर,
अपने ही आखिर अपने होते हैं ये बात कभी भूल मत जाना!

वो एक इंसान जो सोया नहीं कही रातों से
अगर उसकी वजा तुम हो तो किया तुमने ज़ुल्म नहीं किया

आज तन्हा हूँ,तो किसी ने आवाज तक ना दी मुझे
कल तक मेहफिल में यारों का यार था मैं।

ऐसा ख़ामोशी का आलम हो जायेगा हमारे जाने के बाद
हवा के परिंदे भी तेरा शहर छोड़ जायेंगे।

Sad Love Shayari

मिलता हूँ टूट कर तो जुड़ता हूँ शान से
में खुश मिजाज़ शक्स भी और दिल जला भी

जब भी मैंने सोचा तेरे शहर से हिजरत करलूं
तेरे बादे मेरे पैरों से लिपट जाते हैं।

तुझको पाकर तुझको खो दिया है
ये सोच अक्सर दिल रो दिया है।
हमारा दाग-ए-दिल जाये या ना जाये
तेरा दामन तो हमारे आंसुओं ने धो दिया है।

तेरी याद ने उस बक्त रुला डाला मुझको
जैसे ही मैंने सोचा की तुझे भूल जाऊंगा।

खुदगर्ज लोगो की दुनिया में दिल को संभाल कर रखना
क्यूंकि यहाँ बर्बाद करने के लिए लोग मोहब्बत का सहारा लेते हैं।

में खुद हैरान हूँ अपने सब्र की इन्तहा देख कर
तुमने याद करना छोड़ दिया मैंने इंतज़ार करना नहीं

तू हवाओं के रुख पर दिए जलाने की जिद ना कर
ये उदास लोगो का शहर है यहाँ मुस्कुराने की जिद ना कर।

तेरी तहरीरों से आती है तेरे हांथो की खुसबू
तेरे खत अब मुझसे जलाये नहीं जाते।

sad love shayari in hindi for boyfriend

फरयाद कर रही है तरसी होई निगह
देखे हुवे किसी को बहुत दिन गुजर गए

मैं बद दुआ नहीं दे रही हूँ उसको मगर
मेरी दुवा यही है उसे मेरी जैसी कोई और ना मिले।

बो कब का भूल गया होगा तेरी यादों का किस्सा
तू पगली उसकी यादों को सीने से लगाए बैठी है।

सायद मेरी वफ़ा में कोई कमी रही होगी
वो शक्स मेरा हो कर भी मेरा हो ना सका

हसीं आँखों में अभी भी डूब जाता हूँ मैं
इश्क़ में बर्बाद होकर भी मेरी आदत नहीं बदली

घमंड शायरी In Hindi !

काश के कोई इस तरह भी वाकिफ हो मेरी ज़िन्दगी से
के बारिश में में भी रों तो मेरे आंसों पढ़ ले

सुना है काफी पढ़ लिख गए हो तुम
कभीवो बी पढ़ो जो हम कह नहीं पाते

तूने फेसले ही फासले बढाने वाले किये थे
वरना कोई नहीं था, तुजसे ज्यादा करीब मेरे

मुझे घमंड था की मेरे चाहने वाले बहुत है इस दुनिया में,

बाद में पता चला की सब चाहते है  अपनी ज़रूरत के लिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *