15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) की शायरी और सन्देश हिंदी में ! 2020

हेलो फ्रेंड्स आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस के बारे में। दोस्तों स्वतंत्रता दिवस बह दिन है जिसके लिए हमारे देश के बहुत से लोगो ने अपनी गर्दन कटाई कई लोगो ने कुर्बानी दी मगर इस दिन को कभी देख नहीं सके। भारत के बह वीर जिन्होंने भारत को आज़ाद कराने के लिए अपना खून बहाया मगर वे आज़ादी नहीं देख सके। मगर उनकी कुर्बानियां जाया नहीं गई और एक ऐसा भी दिन निकला जब हम आज़ाद हो चुके थे।

इन्ही वीरों के बजह से हमे स्वतंत्रता प्राप्त हुई और ब्रिटिश शासन काल को हमेशा के लिए समाप्त होना पड़ा। इसलिए हम सभी भारतबासी इस दिन  को बड़े ही हर्सोउल्लाश के साथ मनाते है। इस दिन स्कूलों में सरकारी दफ्तरों में तिरंगा लहराकर उन वीर जबानों को सलामी दी जाती है जिन्होंने देश की आज़ादी के लिए अपनी जानें गवाईं थीं।

दोस्तों अगर आप भी एक हिंदुस्तानी है और आपके भी दिल हिन्दुस्तान के लिए बही प्रेम है जो उन वीर जबानों के सीने में था तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। हम आपके लिए कुछ देशभक्ति शायरी लेकर आये है हमे उम्मीद है इस शायरी को आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करेंगे।

15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) की शायरी !

मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ,
वतन के शान की खातिर हथेली पे जान रखता हूँ !!
क्यु पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा पाकिस्तान का ,
मुस्लमान हूँ मैं सच्चा, दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ !!

गूँज रहा है,दुनिया में भारत का नगाडा..
चमक रहा है,आसमान में देश का सितारा…
आज़ादी के दिन आओ मिलके करें दुआ यही की
बुलंदीयों पर लहराता रहे तिरंगा हमारा

न मरो अपनी बेवफा सनम के लिये,
दो गज जमीन नही मिलेगी दफ़न होने के लिए,
अगर मरना ही हैं तो मरो अपने वतन के लिए,
हसीना भी ख़ुशी से दुप्पटा उतार देगी तुम्हारे कफ़न के लिए… वन्दे मातरम, जय हिन्द

क्यों मरते हो यारों सनम बेवफा के लिए,
जो कभी नहीं देगी अपना दुप्पटा तुम्हारे कफन के लिए
मरना है तो मरो अपने वतन के लिए
कम से कम तिरंगा तो मिले जायेगा कफन के लिए

चलो फिर से खुद को जगाते है,
अनुसाशन का डंडा फिर घूमाते है,
सुनहरा रंग है गणतंत्र स्वतंत्रता का,
शहीदों के लहू से ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते है…15 अगस्त शायरी

15 अगस्त पर शायरी हिंदी में ,,,

संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,
हिन्दू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में राम मिले जैसे

मेरे देश का मान हमेशा यूँ ही बनाये रखूँगा,
दिल तो क्या जान भी इस पर निछावर कर दूंगा,
अगर मिले एक भी मोका देश के काम आने का
तो बिना कफ़न के ही देश के लिए सो जाऊंगा…

वतन हमारा मिसाल है मोहब्बत की,
तोड़ता है दीवारें नफरत की,
ये मेरी खुश नसीबी है जो मिली जिन्दगी इस चमन में…
और भुला न सके कोई भी इसकी खूशबु सातों जनम में…

आजादी की कभी शाम नही होने देंगे,
शहीदों की क़ुरबानी बदनाम नही होने देंगे,
बची हो जो एक बूंद भी लहू की,
बची हो जो एक बूंद भी लहू की,
तब तक भारत माता का आंचल निलाम नही होंगे देंगे|

स्वतंत्रता दिवस देशभक्ति शायरी 

इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना,
इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू लेकर की है जिसकी हिफ़ाजत हमने,
ऐसे तिरंगे को दिल में हमेशा बसाए रखना|

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की मान का है,
हम लहराएंगे हर जगह इस तिरंगे को,
हम लहराएंगे हर जगह इस तिरंगे को,
ऐसा नशा ही कुछ हिंदुस्तान की शान का हैं||

में भारत वर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ,
यहाँ कि सुनहरी मिट्टी का गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नही है, स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने कि
तिरंगा हो कफ़न मेरा बस यही अरमान रखता हूँ

भूल न जाना भारत माँ के सपूतों का बलिदान,
इस दिन के लिए जो हुए थे हंसकर कुर्बान,
आज़ादी की ये खुशियाँ मनाकर लो ये शपथ की बनायेंगे देश भारत को और भी महान..

स्वतंत्रता दिवस शायरी इन हिंदी 

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता…

दे सलामी इस तिरंगे को जिस से तेरी शान हैं,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका जब तक दिल में जान हैं..!!

जिसका ताज हिमालय है, जहाँ बहती गंगा है, जहाँ अनेकता में एकता है.. “सत्यमेव जयते जहाँ का नारा है, जहां का मजहब भाईचारा है और कोई नहीं दोस्तों वो भारत देश हमारा है…

वतन हमारा ऐसा है, की कोई छोड़ पाए न
रिश्ता हमारा ऐसा है, की कोई तोड़ पायें न
दिल हमारा एक है, एक हमारी जान हे,
हिंदुस्तान हमारा है और हम इसकी शान हैं..

Shayari on independence day in hindi

इस शायरी को family members, college friends, teachers, neighbours, classmates, dost, relatives, Best Friends, Couples, Him/her, Husband/Wife, friends, Girlfriend/Boyfriend, GF/BF, Sister/Brother, Mother/father, Mom/Dad, whatsapp groups व college friends आदि के साथ whatsapp groups, facebook व instagram पर अवश्य share करें|

मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ,
वतन के शान की खातिर हथेली पे जान रखता हूँ !!
क्यु पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा पाकिस्तान का ,
मुस्लमान हूँ मैं सच्चा, दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ !!

खुशनसीब होते है वो लोग, जो इस देश पर कुर्बान होते है,
जान गवां कर भी वो लोग अमर हो जाते है,
करते हैं सलाम उन देश प्रेमियों को,
जिनके कारण इस तिरंगे का मान होता है

वो शमा जो काम आये अंजुमन के लिए,
वो जज्बा हो जो कुर्बान हो जाये अपने वतन के लिए,
रखते हैं हम वो होंसले भी जो मर मिटे हिंदुस्तान के लिए
रखते हैं हम वो होंसले भी जो मर मिटे हिंदुस्तान के लिए|

15 august shayari in hindi

आजाद भारत के लाल है हम,
आज शहीदों को सलाम करते है,
युवा देश की शान है हम,
अखंड भारत का संकल्प करते है…

कीमत करो शहीदों की, वो देश पर कुर्बान हुए,
सिर्फ दो दिनों की मोहताज नहीं है देश भक्ति,
नागरिकों की एकता ही है देश की असल शक्ति…

मोहब्बत का दूसरा नाम है मेरा देश,
अनेकों में एकता का प्रतीक है मेरा देश,
चाँद गैरों की सुनना मुझे गंवारा नहीं,
हिन्दू मुस्लिम सभी कला प्यारा है मेरा देश.,,,,,15 अगस्त शायरी

नीचे और पढ़ें ,,,,,,,,

हिन्दू शादी कार्ड शायरी हिंदी में – Invitation Card Shayari 

100+ Rahat Indori Shayari और ग़ज़ल In Hindi [2020]

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *