हिन्दू शादी कार्ड शायरी हिंदी में – Invitation Card Shayari !

शादी कार्ड शायरी – Shadi Ke Card Ki Shayari in Hindi Wedding Card Shayari

  • गीत और मृदंग होंगे, संगम और संवाद होंगे।
    जैसे सीता के राम, जैसे पार्वती के भोलेनाथ होंगे।।
  • नूतन ये श्रृंगार रहे, बाबुल का प्यार रहे।
    नूतन इन युगलों का सुखी संसार रहे।।
  • स्नेह की सुधा हो, प्रेम का रंग रहे।
    नित-नूतन युगलों का संग रहे।।
  • ईश्वर की अनुकम्पा लेकर चलने वाले हैं।
    दो पथिक परिणय-सूत्र में बंधने वाले हैं।।
  • गूंजे शहनाई का शोर, हर दृश्य सुनहरा हो।
    बाबुल के आंगन में एक नए रिश्ते का सवेरा हो।।
  • दो सुर मिलके एक राग चुन रहे हैं।
    दो पंछी अपना आकाश बुन रहे हैं।।
  • नए बन्धन हैं, पावन संगम हैं।
    हम प्रतीक्षा में हैं, आपका अभिनन्दन है।।
  • मंगल बेला में मंगल गीत होंगे।
    नए मीतों के रिश्ते भी नवनीत होंगे।।
  • गंगा का सागर में पावन संगम होगा।
    अग्नि-सा शुद्ध यह गटबंधन होगा।।
  • माँ की ममता, बाबुल का प्यार रहेगा।
    शुभ महोत्सव में आपका इंतेज़ार रहेगा।।
  • नयी दिशा में नए रिश्ते प्रारंभ होने को है।

    नए जीवन का शुभारंभ होने को है।।

  • नए कर्तव्य होंगे, नया मिलाप होगा।
    मधुर मिलन में ईश्वर का आशीर्वाद होगा।।
  • आंनद का संचार हो, हर्ष की पुकार हो।
    वर-वधू का पवित्र-बंधन ये साकार हो।।
  • मधुर प्रेम और निष्ठा का साथ रहे।
    नव-पल्लवित रिश्ते में मिठास रहे।।
  • शिव-पार्वती सा संग बना रहे।
    इस परिणय का रंग जचा रहे।।
  • नए अंकुर है कुछ रिश्तों के।
    एक किनारे हैं दो कश्ती के।।

विवाह निमंत्रण शायरी हिंदी में 

  • एक विघ्न हरण मंगल करण गौरी पुत्र गणेश !
    प्रथम निमंत्रण आपको ब्रह्मा विष्णु महेश।।
  • वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभा !
    निर्विघ्नम कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा !!
  • मंगल भवन अमंगल हारी !
    द्रवहु सुदसरथ अजर बिहारी !!
  • राम सरिस वर दुलहिन सीता। संबंधी दशरथ जनक पुनीता।
  • हल्दी है चंदन है रिश्तों का बंधन है ।
    बैस परिवार में आपका हार्दिक अभिनंदन है ।।
  • फलक से चांद उतरेगा तारे मुस्कुराएंगे !
    हमें खुशी तब होगी जब आप हमारी शादी में आएंगे !

हिन्दू विवाह कार्ड की शायरी हिंदी में 

  • सर्व मंगल मांगल्ए शिवे सर्वार्थ साधिके !
    शरन्ए त्रयंबिके गौरी नारायणी नमोस्तुते !,,,,,,,,,शादी कार्ड शायरी 
  • नन्हे नन्हे पांव हमारे कैसे आए बुलाने को।
    मेरे चाचा की शादी में भूल न जाना आने को ।।
  • क्या करिश्मा है कुदरत का कि कौन किसके करीब होता है ।
    शादी उसी से होती है जो जिसके नसीब होता है ।।
  • मिलन है दो परिवारों का रस्म है खुशी मनाने !
    का हमें तो इंतजार है बस आपके आने का !!
  • ममता के सुन्दर निर्मल बाग़ में
    संस्कारित पुष्प(दूल्हा) को आपने संजोया हैं |
    आपके प्यार एवम संस्कारो से भरे घरोंदे में,
    अपनी कली(दुल्हन) को हमने, आपके आँचल में सौपा हैं ||
  • सूर्य सा प्रभावशाली तेज है आपका,
    चाँद जैसा उजला स्वभाव है आपका|
    अनुशासित जीवन से सजाया है परिवार,
    धन्य हैं हम जिसे मिला आपका संसार ||

विवाह कार्ड बाल मनुहार शायरी !

  • लिफाफे में पुराने नोट ना फ़साना
    हमारी बुआ की शादी में जलूल जलूल आना
  • नाचेंगे गायेंगे धूम मचाएंगे
    चाचू की शादी में सबको मनाएंगे
  • कोल्डड्रिंक पियेंगे पॉपकोर्न खायेंगे
    बुआ की शादी में धूम मचाएंगे
  • खुशियों की रात होगी जशन जरा डट के होगा
    हमारे मामा की शादी में अंदाज जरा हट के होगा
  • बाबुल तुम बगियाँ के तरुवर हम तरुवर की चिड़िया रे
    दाना चुग के उड़ जायेंगे पिया मिलन की घडिया रे
  • भेज रहे है स्नेह निमत्रण प्रियवर तुम्हे बुलाने को
    हे मानस के राज हंस तुम भूल ना जाने आने को
  • ना ड्यूटी ना दफ्तर ना ही कोई बहाना होगा
    हमारे चाचू की शादी में जलूल जलूल आना होगा
  • भोला के डमरू पर गौर करे डांस
    मौसी जी की शादी का आया है चांस

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *