Shayari

Top New WhatsApp Status And Qoutes In Hindi ! 2019-2020

Written by Khustarnoorani

1 = हाथ की लकीरों #पर_नहीं,

बल्कि हाथ की #लकीरें बनाने वाले पर #भरोसा_करो ।।

2 = मैं हर पल झूकी और लोग सज़दा समज बैठे..

मैंने बस इन्सानियत निभाई पर लोग खुद को खुदा समज बैठे…

3 = आप कितने भी अच्छे क्यों ना हो
ऐसा कभी नहीं होगा कि आप से सभी खुश हो

4 = *हैसियत का क़भी…गुमान न करो..यारो…!!*
*उड़ान ज़मीन से शुरू….ज़मीन पे ख़त्म होतीं हैं….!!

 

5 = कौन हिसाब रखे*
*किसको कितना दिया*
*और किसने कितना बचाया*

*इसलिए ईश्वर ने आसान गणित लगाया*

*सबको खाली हाथ भेज दिया*
*खाली हाथ ही बुलाया*

6 = तेरी #गली का सफर आज भी #याद है मुझे,

मैं कोई #वैज्ञानिक नही था पर मेरी #खोज लाजवाब थी..

7 = उसके गाँव की तरफ जाती हुई
हर बारात से डर लगता है 😣

8 = गए थे दरगाह पर चादर चढ़ाने ,
चढ़ानेवालों की कतार लंबी थी ,
एक फ़क़ीर के कंधों पर चादर रखी और उसने कहा ,
अल्ला तुम्हारी मुराद पूरी करे..

9 = यतीमी साथ लाती है ज़माने भर की तकलीफ़ें..

सुना है बाप ज़िन्दा हो तो कांटे भी नहीं चुभते…!!

10 = यूं तो औलादें चार थीं उसकी….

बच्चों ने मगर बुढ़ापे में.. लाठी थमा दी.. !!

11 = बहोत संभलकर #फकीरो से #गुफ़्तगू करना

ये लोग #सुखी #नदी से #पानी मांग लेते है

12 = तारीफ़ की चाहत तो नाकाम लोगों की फ़ितरत है

काबिल लोगों के तो दुश्मन भी कायल होते हैं ..!

13 = नफरत करके क्यो बढ़ाते हो अहमियत किसी की!,

*माफ करके शर्मिंदा करने का तरीका भी तो कुछ बुरा नहीं!

14 = खुदा ने जब इश्क़ बनाया होगा,
तो खुद आज़माया होगा,
हमारी तो औकात ही क्या है,
इस इश्क़ ने खुदा को भी रुलाया होगा !!

वो मिटते मिटते मिट गऐ,
जिनको खुद पर गुमान था…!

15 = वो डूबते – डूबते भी बच गऐ,
जिन पर प्रभु तूं मेहरबान था।

वो मिटते मिटते मिट गऐ,
जिनको खुद पर गुमान था…!

16 = वो डूबते – डूबते भी बच गऐ,
जिन पर प्रभु तूं मेहरबान था।

17 = जिंदगी भर सुख कमाकर दरवाजे से घर में लाने की कोशिश करते रहे।
पता ही ना चला कि कब खिड़कियों से उम्र निकल गई।

18 = हैरान बैठा हूँ वक़्त का धागा ले कर..
रूह को रफू करूँ, कि अपने खवाब बुनूं…

19 = मुझे तो रातभर ये
सोचकर नींद
नहीं आती कि..🤤पता नहीं मेरी वाली
खाना बनाना सीख रही होगी या
मुझसे ही बनवाएंगी..

New WhatsApp Status 2020

आसमां में निशाना लगाएं रखिए..
मगर जमीं पर पांव जमाए रखिए….!!

जिन्दगी की दौड़ में, तजुर्बा कच्चा ही रह गया,
हम सीख न पाये फरेब और दिल बच्चा ही रह गया..

वो अक्सर देती है मुझे मिसाल परिंदों की..!
साफ़-साफ़ नहीं कहती की मेरा शहर छोड़ दो..!!

गरमी शुरु हो रही है*
शादी शुदा मर्दो के लिए एक सलाह*
जब भी फ्रिज से पानी की बोतल निकालो,*
तो उसे भर कर ही वापस रखो,*
वरना लैक्चर पानी की बोतल से शुरू होगा* *और*
*पता नहीं किस बोतल पर खत्म होगा।*
😛😜😝😂

पढ़ना मेरे लिए इतना*
मुश्किल काम नहीं है*
जितना मुश्किल काम घर वालो को*
यकीन दिलाना है कि मै पढ़ रहा हूं*

लोग कहते है दिल की सुनो..*❣
लो सुन लिया अब बताओ ये…*🤨
धक धक धक धक का क्या मतलब होता है_*🤔

हमसे कभी तालुक खराब #मत_करना,
हम 👤 वहाँ काम आते हैं ☝जहा अपने भी 👫 साथ छोड़ जाते है ।।

Sad WhatsApp Status 2020

मुझको छोड़ने की बजह तो बता जाते, तुम मुझसे बेज़ार थे या हम जैसे हज़ार थे।

कौन कहता है नेचर और सिग्नेचर कभी नही बदलतें हैं, अगर हाथ पर चोट लगे तो सिग्नेचर बदल जाता है,  और चोट अगर दिल पर हो तो नेचर बदल जाता है।

चिंता इतनी कीजिए​ 👩‍🌾 की काम हो जाए​,
पर​ ​इतनी नही की​ जिंदगी तमाम 😌 हो जाए​,
मालूम सबको है कि जिंदगी बेहाल है,​
लोग फिर भी पूछते हैं और सुनाओ क्या हाल है।

वज़न तो सिर्फ हमारी
इच्छाओं का है,
बाकी ज़िन्दगी बिलकुल
हलकी फुलकी है।

इंसान एक ऐसा ग़ाफिल मंसूबा साज़ है के वह अपनी सारी ज़िन्दगी की प्लानिंग में कभी अपनी मौत को शामिल ही नहीं करता।

*मेरी जिंदगी एक बंद 📕 किताब है,*
*जिसे आज तक किसी ने 📖 खोला नहीं,*
*जिसने खोला उसने 👨‍🏫 पढा नही,*
*जिसने पढा उसने ℹ️ समझा नही,*
*और जो समझ सका वो 😔 मिला नहीं,,,,,,,,,,,,, WhatsApp Status

About the author

Khustarnoorani

मेरा नाम खुश्तर नूरानी है और मैं TheHindiSupprt का संस्थापक हूं। मुझे लिखने का काफी शौक है इसलिए इस ब्लॉग पर मैं आप लोगो के लिए ब्लॉगिंग, एसईओ, इंटरनेट ट्रिक्स, सोशल नेटवर्किंग साइट, मेक मनी ऑनलाइन के बारे में लिखता हूं।

Leave a Comment